`

Ticker

6/recent/ticker-posts

राजस्थान: जोधपुर, करौली, भीलवाड़ा में बीजेपी क्यों कर रही हिंदू-मुसलमान, कांग्रेस के आरोप पर प्रेम शुक्ला ने एक-एक मुस्लिम का नाम लेकर दिया ये जवाब

राजस्थान के भीलवाड़ा में मंगलवार (10 मई, 2022) रात को एक युवक की हत्या के बाद माहौल गरमा गया है। एक समुदाय के युवक की हत्या के बाद विश्व हिंदू परिषद, भारतीय जनता पार्टी और हिंदू जागरण मंच काफी गुस्से में आ गए हैं और राजस्थान सरकार पर निशाना साध रहे हैं। इस मामले मर बीजेपी प्रवक्ता प्रेम शुक्ला ने करौली और जोधपुर के दंगों का जिक्र करते हुए राजस्थान सरकार पर हमला बोला है और इन घटनाओं में शामिल मुस्लिम आरोपियों पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाया है।

टीवी चैनल “आज तक” की एक डिबेट में प्रेम शुक्ला ने कहा कि जब करौली में मतलूब हुसैन ने दंगे भड़काए और राजस्थान सरकार ने उस पर कार्रवाई नहीं की और वो गिरफ्तार नहीं किया गया। इसी तरह जोधपुर के दंगों में दंगाईयों को छोड़कर राजस्थान पुलिस ने दंगा पीड़ितों पर कार्रवाई की और उन पर लाठीचार्ज किया।

उन्होंने कहा, “अब भीलवाड़ा के मामले में भी वही स्थिति है। जब पीड़ित के परिजनों ने साफ तौर पर नामजद करके अभियुक्तों के बारे में स्वयं शिनाख्त की है। पीड़ित के सगे भाई ने भी चाकू मारने वाले को अपनी आंखों से देखा है, बताने के बाद भी दंगई की जगह किसी और को पकड़ा जा रहा है। ऐसे में प्रशासन जब खुद सांप्रदायिकता करने पर आमादा हो तो क्या जनता के पास अधिकार नहीं है कि वह ऐसी सरकार को सांप्रदायिकता से मुक्त होने के लिए उनसे अपील करे।”

दरअसल, भीलवाड़ा मामले में मृतक के भाई ने बताया है कि हमला करने वाले नाबालिग नहीं थे, जबकि पुलिस ने दो नाबालिगों और एक अन्य व्यक्ति को पकड़ा है। मामले में आरोपी टोनी पठान, इब्राहिम पठान और मुनाफ पठान अभी तक पुलिस की गिरफ्त में नहीं हैं।

इस पर कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि इन लोगों पर आरोप है। प्रशासन और पुलिस इस पर कार्रवाई करेगा और मुझे नहीं लगता है कि किसी टीवी चैनल पर बैठकर मुझे इस पर टिप्पणी करनी चाहिए। 48 घंटे भी नहीं बीते, लेकिन हथियार और गिरफ्तारी हो गई है। अगर कोई और भी आरोपी है तो उसकी जरूर गिरफ्तारी होगी। मैं बस एक बात कहना चाहती हूं कि राजा राम गुर्जर का नाम करौली में आया तो वे कौन हैं? वे जयपुर के बीजेपी के मेयर के पति हैं। तो इस तरह की बातें यहां करके जो भीड़ दिख रही है ये हिंसा और उन्माद फैलाने की कोशिश है। दिल्ली में भी देखा गया कि वीएचपी ने पुलिस को धमकाया था पुलिस को कि अगर उनके लोगों को छुआ तो फिर याद रखना कि हम क्या कर सकते हैं। किसी को भी कानून व्यवस्था को अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं है।

गौरतलब है कि कल राजस्थान के भीलवाड़ा के शास्त्री नगर में 20 साल के आदर्श तापड़िया के सीने में कथित दूसरे समुदाय के कुछ युवकों ने चाकू घोंप दिया। इसके बाद वह बुरी तरह जख्मी हो गया और अस्पताल पहुंचने पर उसकी मृत्यु हो गई।

https://ift.tt/KXnL2Fr

Post a Comment

0 Comments